अमरनाथ यात्रा 2023 : श्रद्धालुओं को सुरक्षित यात्रा का यकीनी बनाने के लिए पंजाब पुलिस ने किए सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध

डीजीपी लॉ एंड आर्डर ने पठानकोट में पुलिस, फौज, सिवल प्रशासन और अन्य सुरक्षा एजेंसियों की उच्च स्तरीय मीटिंग की अध्यक्षीय की,पंजाब पुलिस मुख्यमंत्री भगवंत मान के निर्देशों अनुसार श्रद्धालुओं के लिए निर्विघ्न यात्रा को यकीनी बनाने के लिए वचनबद्ध,स्पेशल डीजीपी अर्पित शुक्ला ने माधोपुर बैरियर पर स्थापित सुविधा केंद्र का भी दौरा किया

अमरनाथ यात्रा 2023 : श्रद्धालुओं को सुरक्षित यात्रा का यकीनी बनाने के लिए पंजाब पुलिस ने किए सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध

हिंदुस्तान तहलका / मोहित कोछड़

पठानकोट। मुख्यमंत्री भगवंत मान द्वारा अमरनाथ यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए निर्विघ्न और सुरक्षित यात्रा को यकीनी बनाने के लिए पंजाब पुलिस को दिए निर्देशों के मद्देनज़र पुलिस के विशेष डायरैक्टर जनरल ( विशेष डीजीपी) कानून और व्यवस्था अर्पित शुक्ला ने सोमवार को पुलिस, फ़ौज, सिवल प्रशासन और अन्य सुरक्षा एजेंसियों ने उक्त यात्रा के सुरक्षा प्रबंधों का जायज़ा लेने के लिए पठानकोट में उच्च स्तरीय मीटिंग की अध्यक्षता की।यह मीटिंग मौजूदा समय चल रही अमरनाथ यात्रा के लिए रणनीतिक तैयारियों पर केंद्रित थी। मीटिंग में पुलिस तैनाती, सुरक्षा उपाय, यातायात प्रबंधन और आपदा प्रबंधन जैसे विभिन्न पहलू विचारे गए।विशेष डीजीपी ने कैंप की सुरक्षा, एक सुचारू संचार नैटवर्क की स्थापना, राष्ट्रीय राजमार्ग और अन्य मार्गों के साथ ट्रैफ़िक नियमों के लिए उचित योजना सहित कई अन्य मसलों पर भी चर्चा की। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को पार्किंग के लिए उचित प्रबंध करने और शंभू बार्डर से फिल्लौर, फिल्लौर से भोगपुर, भोगपुर से पठानकोट और पठानकोट से लखनपुर बैरियर समेत सभी चारों यात्रा मार्गों पर सुरक्षा बलों की रणनीतिक तैनाती करने के लिए भी कहा।ज़िक्रयोग्य है कि शंभू से माधोपुर तक फैले पंजाब के क्षेत्र को चार सैक्टरों में बांटा गया है- शंभू से फिल्लौर, फिल्लौर से भोगपुर, भोगपुर से मुकेरियाँ, और मुकेरियाँ से माधोपुर।

अधिकारियों, सुरक्षा एजेंसियों और सिवल प्रशासन के बीच नज़दीकी तालमेल की अहम भूमिका पर ज़ोर देते हुए, विशेष डीजीपी ने यात्रा के सुचारू और शांतिपूर्ण संचालन को यकीनी बनाने के लिए योग्य योजनाबंदी और प्रभावी विधि की ज़रूरत पर ज़ोर दिया। उन्होंने अधिकारियों को संवेदनशील स्थानों और बेस कैंपों पर विशेष ध्यान देने के साथ-साथ ऐसे क्षेत्रों में मज़बूत सुरक्षा प्रबंधों को यकीनी बनाने के निर्देश दिए।किसी भी प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए व्यापक आपदा प्रबंधन प्रबंधों की ज़रूरत पर ज़ोर देते हुए, उन्होंने आगज़नी की घटनाओं या बाढ़ों जैसी हंगामी स्थितियों से निपटने के लिए मानक संचालन प्रक्रियाओं ( ऐसओपीज़) को लागू करने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया।बाद में स्पैशल डीजीपी अर्पित शुक्ला ने पंजाब पुलिस की तरफ से माधोपुर बैरियर में स्थापित सुविधा केंद्र का भी दौरा किया।मीटिंग के दौरान अन्य आदरणियों सहित विभिन्न ब्रिगेडों के कमांडर, डीआईजी बार्डर रेंज नरिन्दर भार्गव, डिप्टी कमिशनर पठानकोट, एसएसपी पठानकोट हरकमल प्रीत सिंह खक्ख, एसएसपी कठुआ, एसएसपी नूरपुर, राय से शैलेश कुमार, आईबी से रविन्द्र ठाकुर भी उपस्थित थे।