Thursday, May 23, 2024
No menu items!
spot_img
Homeदिल्ली NCRफरीदाबादगुस्साई हजारों आशा वर्करों ने किया सीएमओ कार्यालय पर आक्रोश प्रदर्शन

गुस्साई हजारों आशा वर्करों ने किया सीएमओ कार्यालय पर आक्रोश प्रदर्शन

हिंदुस्तान तहलका/ संवाददाता

फरीदाबाद। मानी हुई मांगों को लागू न करने से गुस्साई हजारों आशा वर्करों ने सीएमओ कार्यालय पर आक्रोश प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के बाद स्वास्थ्य मंत्री माननीय कमल गुप्ता को संबोधित आठ सूत्रीय मांगों का ज्ञापन डिप्टी सीएमओ को सौंपा। डिप्टी सीएमओ ने आश्वासन दिया कि सरकार के स्तर की मांगों को सरकार को भेज दिया जाएगा और स्थानीय स्तर की मांगों का मंगलवार को सीएमओ व अन्य संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक कर समाधान कर दिया जाएगा। प्रदर्शन से पूर्व आशा वर्कर यूनियन हरियाणा की जिला प्रधान हेमलता की अध्यक्षता में बीके चौक पर सभा का आयोजन किया गया। जिला सचिव सुधा पाल द्वारा संचालित इस सभा में अखिल भारतीय राज्य सरकारी कर्मचारी महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुभाष लांबा, सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेश कुमार शास्त्री, जिला कोषाध्यक्ष भीम सिंह व आशा वर्कर यूनियन जिला उपप्रधान सुशीला चौधरी, पुजा गुप्ता, माया, करियर नीलम जोशी आदि ने संबोधित किया। आशा वर्करों ने चेतावनी दी कि अगर मानी हुई मांगों को शीघ्र लागू नहीं किया तो प्रदेश की बीस हजार आशा वर्कर लोकसभा चुनाव में कोई कठोर फैसला लेने पर मजबूर होगी। राष्ट्रीय अध्यक्ष सुभाष लांबा व मास्टर भीम सिंह ने आशा वर्करों को संबोधित करते हुए मांगों एवं आंदोलन का पुरजोर समर्थन किया।
आशा वर्कर यूनियन की जिला प्रधान हेमलता व सचिव सुधा ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि सात अगस्त से 19 अक्टूबर,2023 तक चली राज्यव्यापी हड़ताल के बाद सरकार के साथ समझौता हुआ था। बातचीत में हड़ताल के दौरान का 4 हजार रुपए मानदेय देने पर सहमति बनी थी। जिसका पत्र भी जारी हो गया था। जिसको अभी तक लागू नहीं किया गया। हड़ताल के दौरान काटा गया मानदेय भी नहीं दिया गया है। उन्होंने मासिक मानदेय की स्लीप देने, आशा वर्करों को दिए गए फोन सिम काम नहीं कर रही है। इसलिए उनको बदला जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि आशा पे एप और गाइड लाइन में जरूरी सुधार करते हुए दूसरे जिले में होने वाली डिलीवरी का बेनीफिट तुरंत आशाओं की देने, आशाओं की रिटायरमेंट उम्र 65 साल करने, आशा फैसिलिटेटर की विजिट व रिपोर्टिंग की प्रोत्साहन राशि बढ़ाने और रेवाड़ी में बदले की भावना से हटाई गई आशाओं को वापस पद पर लेने की मांग की गई।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

Translate »