Wednesday, May 22, 2024
No menu items!
spot_img
Homeदिल्ली NCRफरीदाबादसाइबर पुलिस ने सात केस सुलझाते हुए 18 आरोपियों को किया गिरफ्तार

साइबर पुलिस ने सात केस सुलझाते हुए 18 आरोपियों को किया गिरफ्तार

-177 शिकायतों का किया निस्तारण
-8 लाख 30 हजार 426 राशि रिफंड व एक लाख 38 हजार 141 रुपए बैंक में कराए सीज

हिन्दुस्तान तहलका / दीपा राणा

फरीदाबाद – फरीदाबाद साइबर पुलिस ने 9 से 15 फरवरी तक 7 केस सुलझाए। इस सप्ताह सात केस सुलझाते हुए 18 आरोपियों को गिरफ्तार किया। पुलिस ने आरोपियों से 32 लाख 88 हजार छह सौ रुपए बरामद किए है। इनमें 4 केस साइबर सेंट्रल, 2 साइबर बल्लभगढ़ तथा 1 मामला साइबर एनआईटी ने सुलझाए। गिरफ्तार किए गए आरोपियों में सुरेश, अंशु, सूरज, हेमंत, हिमांशु धीरज, प्रवेश, निशिथ, अतुल, सागर, ऋतिक, घनश्याम, अंकित, विकास, प्रमोद, इरफान, जिशान तथा महिला आरोपी ज्योति का नाम शामिल है।

फरीदाबाद के तीनों साइबर थानों में दर्ज थे मुकदमे

फरीदाबाद के तीनों साइबर थानों में दर्ज थे मुकदमे

डीसीपी साइबर क्राइम जसलीन कौर ने बताया कि उक्त आरोपी UPI या शॉपिंग फ्रॉड के माध्यम से साइबर ठगी की वारदातों को अंजाम देते थे। जिनके मुकदमे फरीदाबाद के तीनों साइबर थानों में दर्ज किए गए थे। इस सप्ताह में साइबर पुलिस ने 1773 शिकायतों का निस्तारण करते हुए 8 लाख 30 हजार 426 रूपए करवाए रिफंड व एक लाख 38 हजार 141 रुपए बैंक में सीज कराए गये। उन्होंने बताया कि आजकल तकनीक के दौर में अलग-अलग तरह से लोगों को ऑनलाइन सुविधाएं मिल रही है। जिसके माध्यम से लोग अपने ज्यादातर काम करने के लिए तकनीक पर ही निर्भर हैं।

जागरूक होकर साइबर फ्रॉड से बचा जा सकता

डीसीपी साइबर क्राइम जसलीन कौर ने बताया कि साइबर अपराधी लोगों की इसी निर्भरता का फायदा उठाकर विभिन्न प्लेटफॉर्म से लोगों का डाटा प्राप्त करके उनको झांसे में लेकर उनके साथ ठगी कर रहे हैं। साइबर ठगी के लिए साइबर अपराधी लोगों को विभिन्न प्रकार से लालच देते हैं, जिनमें से कुछ बड़े टेलीग्राम टास्क फ्रॉड, इन्वेस्टमेंट फ्रॉड, कस्टमर केयर अधिकारी बनकर फ्रॉड, लोन फ्रॉड, अश्लील वीडियों बनाकर ब्लैकमेल करके, लोगों के खाते में बहाने से पैसे डलवाने का लालच देना, बैक अधिकारी बनकर OTP प्राप्त करना प्रमुख है। इसलिए जागरूक होकर साइबर फ्रॉड से बचा जा सकता है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

Translate »