Tuesday, February 27, 2024
No menu items!
spot_img
Homeदिल्ली NCRफरीदाबादखिली धूप, शिल्पकारों के खिले चेहरे, मेले में उमड़े सैलानी

खिली धूप, शिल्पकारों के खिले चेहरे, मेले में उमड़े सैलानी

हिन्दुस्तान तहलका / दीपा राणा

सूरजकुंड / फरीदाबाद

सूरजकुंड में 37वां अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेला अब पूरी रंगत में नजर आने लगा है। बारिश व ठंड के चलते पहले कुछ दिन पर्यटकों की संख्या कम रही लेकिन जैसे ही धूप खिली तो पर्यटक मेले की ओर बढ़ने शुरू हो गए। अब तक सवा तीन लाख से ज्यादा पर्यटक मेले में पहुंच चुके हैं।

मेला क्षेत्र में एक ओर जहां शिल्पकार अपने उत्पादों की ओर पर्यटकों का ध्यान आकर्षित कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर पारंपरिक वेशभूषा में सुसज्जित लोक कलाकार भी देशी व विदेशी पर्यटकों को अपने वाद्य यंत्रों की सुरीली धुनों पर थिरकने को मजबूर कर रहे हैं।

थीम स्टेट गुजरात के कलाकारों ने चौपाल पर रास की प्रस्तुति से बिखेरी छटा

थीम स्टेट गुजरात के कलाकारों ने चौपाल पर रास की प्रस्तुति से बिखेरी छटा

37वें सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेले की मुख्य व छोटी चौपाल पर नित्य रोज देशी व विदेशी कलाकार अपनी समृद्ध संस्कृति की छटा बिखेर रहे हैं। छोटी व बड़ी चौपाल पर विभिन्न कलाकार अपने गायन, वादन व नृत्य कला के बेहतरीन प्रदर्शन से दिनभर पर्यटकों का मनोरंजन कर रहे हैं। सोमवार को मेले की मुख्य चौपाल पर थीम स्टेट गुजरात की धरा अहमदाबाद से आए कलाकारों ने गुजरात की अस्मिता को उजागर करती मिससरर रास की शानदान प्रस्तुति दी। मिश्र रास राधा-कृष्ण के प्रेम बंधन का प्रतीक है। यह रास द्वारका नगरी में रब्बारी समाज के लोगों द्वारा भगवान श्री कृष्ण और राधा के प्रेम की याद में किया जाता है। श्री राम और श्री कृष्ण भारतीय संस्कृति के महानायक व सभी के आदर्श भी हैं। गुजराती कलाकारों द्वारा पेश की गई मिससरर रास की शानदार प्रस्तुति से मुख्य चौपाल पर बैठे पर्यटक झूम उठे।

मालावी से आए कलाकारों ने इम्बूजा डांस की जोरदार प्रस्तुति दी। वहीं कोमोरोस देश के कलाकारों ने शादी-विवाह के शुभ अवसर पर किए जाने वाले नृत्य की भव्य प्रस्तुति से चौपाल पर बैठे पर्यटकों को मंत्र मुग्ध किया। अफ्रीका के पश्चिमी देश के टोगो के कलाकारों ने तालकुट डांस तथा गाम्बिया देश से आए कलाकारों ने दुनिया की सुंदर झलकियों का रंग अपने गायन व नृत्य कला के माध्यम से चौपाल पर बैठे सभी पर्यटकों पर बिखेरा। कीनिया के कलाकारों ने बंबासा और किर्गिस्तान के कलाकारों ने अपनी शानदार नृत्य कला की बेहतरीन पेशकश दी। देश-विदेश के कलाकारों की मनमोहक प्रस्तुतियों ने दर्शकों की खूब तालियां बटोरी।

छोटी चौपाल पर हुए रंगारंग कार्यक्रम

छोटी चौपाल पर हुए रंगारंग कार्यक्रम

कला एवं सांस्कृतिक कार्य विभाग की अधिकारी रेनू हुड्डा व सुमन डांगी की उपस्थिति में छोटी चौपाल पर दिनभर लोक कलाकार अपनी शानदार प्रस्तुति देकर पर्यटकों का मनोरंजन कर रहे हैं। सोमवार को छोटी चौपाल पर पुष्पा शर्मा द्वारा सांस्कृति नृत्य, अनूप व तनू शर्मा द्वारा हरियाणवी लोक नृत्य, सुशील शर्मा ने सूफी गायन, वेद वमन ने रागनी और वेवल ने बैंड की मनमोहक प्रस्तुतियों से समां बांध दिया। इसी प्रकार सुभाष ने लोकगती, आंध्रप्रदेश के दुर्गा प्रसाद ने लम्बाडी, गजरात के कलाकारों ने मिससरर रास, उडीसा के कलाकारों ने जय डांस की मनहारी प्रस्तुति से पर्यटकों को थिरकने पर मजबूर कर दिया।

दूसरी ओर मेले की मुख्य चौपाल पर क्रमबद्ध तरीके से कलाकारों द्वारा अपनी-अपनी प्रस्तुतियां दी गई। जानेंद्र कुमार ने बडी चौपाल तथा अल्पना व कर्ण ने छोटी चौपाल पर भव्य तरीके से मंच का संचालन किया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments