Wednesday, July 24, 2024
No menu items!
spot_img
Homeराजनीति‘वेदशास्त्र रिसर्च एंड फाउंडेशन’ने किया सनातन संस्था का ‘हिन्दुत्व के आधारस्तंभ’ पुरस्कार...

‘वेदशास्त्र रिसर्च एंड फाउंडेशन’ने किया सनातन संस्था का ‘हिन्दुत्व के आधारस्तंभ’ पुरस्कार देकर सम्मान

हिंदुस्तान तहलका / ब्यूरो

देहरादून – ‘वेदशास्त्र रिसर्च एंड फाउंडेशन’की ओर से देशभर में सांस्कृतिक, सामाजिक एवं हिन्दुत्व के क्षेत्र में समर्पित भाव से उल्लेखनीय कार्य करनेवाले मान्यवर व्यक्ति एवं संस्था को सम्मानित किया गया। इस समारोह में उत्तराखंड के भूतपूर्व मुख्यमंत्री तथा महाराष्ट्र के भूतपूर्व राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के हस्तों सनातन संस्था को ‘हिन्दुत्व के आधारस्तंभ’ (पिलर्स ऑफ हिन्दुत्व) पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर सनातन संस्था की ओर से धर्मप्रचारक अभय वर्तक ने यह पुरस्कार स्वीकारा। यह सम्मान समारोह देहरादून (उत्तराखंड) में सांस्कृतिक विभाग के ऑडिटेरीयम में संपन्न हुआ।

इस अवसर पर ‘देवभूमि रत्न पुरस्कार’ एवं ‘हिन्दुत्व के आधारस्तंभ’ पुरस्कारों का वितरण किया गया। ‘वेदशास्त्र रिसर्च एंड फाउंडेशन’की अध्यक्षा डॉ. वैदेही ताम्हण ने संपूर्ण कार्यक्रम का संयोजन किया था।

इस अवसर पर अभय वर्तक ने पुरस्कार स्वीकारते हुए ‘वेदशास्त्र रिसर्च एंड फाउंडेशन’ एवं अध्यक्षा डॉ. वैदेही ताम्हण का सनातन संस्था की ओर से आभार व्यक्त किया। वे आगे बोले कि सनातन संस्था एकमात्र ऐसी संस्था है, जो संतों के मार्गदर्शनानुसार अध्यात्म पर सखोल शोधकार्य करती है। सच्चिदानंद परब्रह्म डॉ. जयंत आठवलेजी ने सनातन संस्था की स्थापना की। उन्होंने अध्यात्म के विविध विषयों पर 364 से भी अधिक ग्रंथ 13 भाषाओं में प्रकाशित किए हैं। आप सनातन के आश्रम को भेट देकर अध्यात्म पर हो रहे शोधकार्य का अवश्य लाभ लें।

डॉ. भगतसिंह कोश्यारी ने वेदशास्त्र रिसर्च एंड फाउंडेशन’ एवं उसकी अध्यक्षा डॉ. वैदेही ताम्हण के विषय में बोले, ‘‘भारतभर के विविध राज्यों के सामाजिक, सांस्कृतिक एवं हिन्दुत्व के क्षेत्र के मान्यवरों का चयन कर उन्हें सम्मानित किया, इसके लिए व्यापक शोधकार्य की आवश्यकता होती है। उनका यह कार्य प्रशंसनीय है। उनके समान वेदों की शिक्षा देनेवाली अनेक संस्थाओं की आज आवश्यकता है।

इस समारोह में भगतसिंह कोश्यारी के साथ सतपाल महाराज, तीरथ सिंह रावत, हरी चैतन्य पुरी महाराज, डॉ. उमाकानंद सरस्वती महाराज एवं हिन्दू जनजागृति समिति के राष्ट्रीय मार्गदर्शक सद्गुरु (डॉ.) चारुदत्त पिंगळे की प्रमुख उपस्थिति थी। इसके अलावा सतपाल महाराज,चंडी प्रसाद भट, स्वामी दिनेशानंद भारती, मधु भट, कुसुम खंडवाल, उर्मि नेगी, आइएएस डॉ. आशीष चौहान, कर्नल डीएस बर्तवाल, डॉ. यशवीर सिंह एवं लेफ्टनंट जनरल जयवीर सिंह नेगी को ‘देवभूमि रत्न पुरस्कार’ प्रदान किए गए। इसके साथ ही सनातन संस्था सहित स्वामी हरि चैतन्य महाराज, भाजपा के सांसद गोपाल शेट्टी, गोलंदे महाराज, उद्बोध महाराज पैठणकर, अतुल जेसवानी, प्रदोष चव्हाणके, गीता प्रेस एवं कुर्माग्राम आश्रम को ‘हिन्दुत्व के आधारस्तंभ’ (पिलर्स ऑफ हिन्दुत्व) पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

Translate »