Wednesday, May 22, 2024
No menu items!
spot_img
Homeउत्तर प्रदेशUP News: 14 विषय पढ़ा रहा सात वर्ष का "गूगल गुरु" ;...

UP News: 14 विषय पढ़ा रहा सात वर्ष का “गूगल गुरु” ; इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में मिला स्थान

⇒ अब्दुल कलाम की तरह साइंटिस्ट बने का है सपना

हिंदुस्तान तहलका / शिवांगी चौधरी

मथुरा – मथुरा का सात साल का बच्चा गुरु इन दिनों सुर्खियों में है। वजह है उसका तेज दिमाग। ‘गूगल गुरु’ के नाम से विख्यात यह पलक झपकते ही ऐसे सवालों के जवाब दे देता है, जिनका जवाब देने में एक्सपर्ट को भी पसीने आ जाएं। फिलहाल गुरु यूपीएससी की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों को पढ़ा रहा है। सात वर्ष का गूगल गुरु 14 विषय पढ़ा रहा है। इसके लिए उसे इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में स्थान मिला है।

मथुरा के वृंदावन की गौरा नगर कॉलोनी के रहने वाले अरविंद उपाध्याय और प्रिया उपाध्याय का सात साल का बेटा गुरु उपाध्याय है। गुरु जब 17 महीने का था तब उसके माता-पिता को उसकी प्रतिभा का पता चला। उस समय पेशे से इंजीनियर गुरु के पिता अरविंद उपाध्याय और सीटेट कर चुकी मां प्रिया उपाध्याय सिविल परीक्षा की तैयारी कर रहे थे। आपस में सवाल जवाब करते माता-पिता को सुनकर गुरु ने ऐसे कठिन सवालों के जवाब याद कर लिए, जिनका जवाब देना किसी बड़े के लिए भी आसान नहीं था।

गुरु उपाध्याय से बना गूगल गुरु

गुरु उपाध्याय के सवाल-जवाब जब घर से निकलकर देश के अलग-अलग शहरों में रहने वाले एक्सपर्ट के सामने पहुंचे तो वह दांतों तले उंगलियां दबाने को मजबूर हो गए। चार वर्ष की उम्र में पहुंचते-पहुंचते गुरु उपाध्याय को सब लोग गूगल गुरु के नाम से बोलने लगे। वर्तमान में गुरु की पहचान इतनी कम उम्र में उसकी विलक्षण यादगार शक्ति के कारण गूगल गुरु के रूप में हो गई है। गुरु उपाध्याय उर्फ गूगल गुरु को दुनिया भर के देश उनकी राजधानी, भौगोलिक स्थिति वहां की भाषा सभी का ज्ञान है। इसके अलावा उसे पता है कि अंतर्राष्ट्रीय संबंध में क्या है। यांग हुरेन जी का नौ डैश लाइन नीति, स्पेस नीति, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में कैसे रोबोट और कंप्यूटर सीखते हैं। इसके अलावा गुरु को मौसम, सामान्य ज्ञान आदि के बारे में भी काफी जानकारी है।

भारत ही नहीं विश्व में सबसे कम उम्र का टीचर बना गुरु

सात वर्षीय गुरु उपाध्याय जब पांच वर्ष का था तभी उसने इंजीनियरिंग और यूपीएससी की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों को 14 विषय पढ़ाना शुरू कर दिया था। अब जब वह सात वर्ष का हुआ तो उसे इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में सबसे कम उम्र के गेस्ट लेक्चर का स्थान मिला। गुरु ने यह सम्मान अयोध्या राम जन्मभूमि ट्रस्ट और श्री कृष्ण जन्मभूमि ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के हाथों से लिया। गुरु को सम्मान प्रदान करते हुए महंत नृत्य गोपाल दास ने कहा कि देश के अंदर इस प्रकार की प्रतिभा हैं। इससे साबित होता है कि देश आगे चल कर निसंदेह विश्व गुरु बनेगा।

गुरु पढ़ाते हैं यह 14 विषय

गुरु उपाध्याय उर्फ गूगल गुरु इंजीनियरिंग और यूपीएससी की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों को 14 विषय पढ़ाते हैं। जिनमें स्पेस साइंस, इकोलोजी, जियो ग्राफी, एस्ट्रोनॉमी, हिस्ट्री,अंतरराष्ट्रीय संबंध,राकेट साइंस, क्वांटम फिजिक्स, सोशल इश्यू, ओसेनॉलोजी, आर्ट एंड कल्चर, नैनो टेक्नोलॉजी, विदेश नीति और मरीन साइंस हैं। गुरु ने बताया यह विषय इंजीनियरिंग और यूपीएससी की परीक्षा पास करने के लिए बहुत जरूरी हैं। गुरु का सपना है कि वह बड़े होकर एपीजे अब्दुल कलाम की तरह साइंटिस्ट बने और उनके जो काम रह गए थे उनको पूरा करें।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

Translate »