Friday, July 12, 2024
No menu items!
spot_img
Homeदिल्ली NCRफरीदाबादअनंगपुर गांव में चर्च निर्माण के विरोध में ग्रामीणों ने ज्ञापन सौंपा

अनंगपुर गांव में चर्च निर्माण के विरोध में ग्रामीणों ने ज्ञापन सौंपा

हिन्दुस्तान तहलका

फरीदाबाद

अनंगपुर गांव में चर्च बनाए जाने के विरोध में आज सैकड़ों ग्रामवासी सेक्टर-12 लघु सचिवालय पहुंचे और जिला उपायुक्त की अनुपस्थिति में एक ज्ञापन सीटीएम साहब को सौंपा। जिसमें मनोज भड़ानाप्रेमकृष्ण आर्य, अत्तर सिंह नेता और विरेंन्द्र भड़ाना ने सीटीएम को बताया कि फऱीदाबाद के सामाजिक  धार्मिक वातावरण को बिगाड़ने के लिये कुछ बाहरी असामाजिक तत्वों द्वारा गांव में चर्च का निर्माण शुरू किया जाने का प्रयास किया जा रहा है। हमारी जानकारी के अनुसार हमारे गांव में एक भी ईसाई नहीं रहता है। ऐसे में चर्च के निर्माण को कुछ तत्वों द्वारा हिन्दू निवासियों को परेशान करने की कार्रवाई है। हमारी पंचायत में भी यह निर्णय हुआ था कि हिन्दुओ के गांव में चर्च का निर्माण नहीं करने दिया जा सकता। वर्तमान समय में धार्मिक वातावरण को बिगाड़ने  के लिए सांप्रदायिक तत्वों द्वारा मजार या मस्जिद या चर्च बनाने का आम चलन है। ग्रामीणों ने अनुरोध किया कि संबंधित अधिकारियों को इसे रोकने के लिए उचित कार्यवाही के लिए कृपया तुरंत निर्देश करें। क्योंकि यह एक बेहद गंभीर मामला होने के कारण ऐसी गतिविधियों को रोकने के लिए तत्काल कार्रवाई करना अति आवश्यक है और ऐसे तत्वों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी शुरू की जानी चाहिए जो जानबूझकर ऐसे अवांछित गतिविधियों में लगे हुए हैं। देश में ऐसी गतिविधियां में ऐसा लगता है कि कोई ग्रुप लगा हुआ है जो गड़बड़ी फैलाने की कोशिश कर रहा है और ऐसे कदम उठाकर शांतिपूर्ण माहौल बिगाड़ रहे हैं। इस कार्रवाई में शामिल लोग उस समूह से संबद्ध हो सकते हैं। ऐसी गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए तत्काल कार्रवाई की आवश्यकता हैयह भी संभव है कि ये तत्व जिले के अन्य क्षेत्रों में भी सक्रिय हो सकते हैं। सीटीएम ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि जल्दी ही कानून के अनुसार जो भी कारवाई होगी वह की जाएगी। इस अवसर पर मनोज भड़ानाललित भड़ानाभरत भड़ानासंदीप भड़ानाअजीपाल सरपंचपेमी भड़ानाशीशपाल भड़ानाचवन भड़ानाबिट्टू आर्यदीपक भड़ानाचतर भड़ानाविरेंद्र भड़ाना, प्रेम कृष्ण आर्य सहित सैकड़ो गांव वाले मौजूद थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

Translate »