Tuesday, July 16, 2024
No menu items!
spot_img
Homeदिल्ली NCRनई दिल्लीकोर्ट में वर्चुअली पेश हुए सीएम केजरीवाल, बोले- विश्वास प्रस्ताव की वजह...

कोर्ट में वर्चुअली पेश हुए सीएम केजरीवाल, बोले- विश्वास प्रस्ताव की वजह से खुद नहीं आ सका

हिन्दुस्तान तहलका / ब्यूरो

नई दिल्ली – दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कथित उत्पाद शुल्क नीति घोटाले से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में समन का अनुपालन न करने का आरोप लगाने वाली प्रवर्तन निदेशालय की शिकायत पर आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से दिल्ली अदालत की सुनवाई में भाग लिया, वहीं कोर्ट ने केजरीवाल के लिए अगली तारीख 16 मार्च तय की है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि अगली पेशी में मैं खुद आऊंगा। विश्वास प्रस्ताव पर चर्चा और बजट सत्र के चलते इस बार नहीं आ सका।

बता दें कि ED ने पेश न होने पर कोर्ट में याचिका दायर की थी। जिस पर 7 फरवरी को कोर्ट ने सीएम केजरीवाल को समन भेजा और 17 फरवरी को कोर्ट में पेश होने के लिए कहा था।

पेश न होने पर ED पहुंची थी कोर्ट

शराब घोटाला मामले में केंद्रीय एजेंसी के समन का पालन नहीं करने पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय राउज एवेन्यू कोर्ट पहुंची थी। प्रवर्तन निदेशालय ने दिल्ली सीएम को पांच समन भेज चुकी है। लेकिन केजरीवाल पेश नहीं हुए। जिसके बाद जांच एजेंसी ने अदालत का दरवाजा खटखटाया था।

कोर्ट में ED ने रखी थीं ये दलीलें

ED द्वारा धन शोधन निवारण अधिनियम की धारा 50 के अनुपालन में गैर-उपस्थिति के लिए शिकायत मामला दर्ज किया, जो समन, दस्तावेजों के उत्पादन आदि के संबंध में ED की शक्तियों को निर्धारित करता है। इससे पहले राउज एवन्यू कोर्ट की अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट दिव्या मल्होत्रा के समक्ष अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल एसवी राजू पेश हुए थे और ED की ओर से दलीलें दी थीं।

इतनी बार सीएम केजरीवाल को जारी हो चुका है समन

उन्होंने कहा था कि ED ने केजरीवाल को अलग-अलग तारीखों पर छह बार समन जारी किया और पूछताछ के लिए बुलाया था। लेकिन वे हर बार समन का पालन करने में असमर्थ रहे और जानबूझ कर जांच में सहयोग नहीं कर रहे थे। ऐसे में तय नियमों में केजरीवाल के खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई की जाए। कोर्ट ने मामले की सुनवाई 7 फरवरी तय की थी।

दिल्ली विधानसभा में विश्वास मत का प्रस्ताव पेश

आप विधायकों की खरीद-फरोख्त के आरोपों और आबकारी नीति में ईडी के समन के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को विधानसभा में विश्वास मत का प्रस्ताव पेश किया। प्रस्ताव पर विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल ने शनिवार को चर्चा कराने का निर्णय लिया। केजरीवाल ने प्रस्ताव प्रस्तुत करने के दौरान केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि विभिन्न प्रदेशों में पार्टियां तोड़ी जा रही हैं और झूठे मामलों में फंसाकर सरकारें गिराई जा रही हैं।

ED ने छठी बार केजरीवाल को पूछताछ के लिए बुलाया

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल को दिल्ली उत्पाद शुल्क नीति मामले में चल रही जांच में शामिल होने के लिए नया समन जारी किया है। ED ने उन्हें 19 फरवरी को पेश होने के लिए कहा है। इससे पहले भी ईडी पांच समन भेज चुकी है, जिसे मुख्यमंत्री ने नजरअंदाज कर दिया था।

इन तारीखोंं पर जारी हो चुके हैं समन

ED ने 2 फरवरी, 17 जनवरी, 3 जनवरी, 21 दिसंबर और 2 नवंबर को केजरीवाल को समन भेजा था, लेकिन दिल्ली सीएम पेश नहीं हुए थे। इससे पहले आम आदमी पार्टी (आप) ने कहा कि केजरीवाल ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) को दिए जवाब में पूछा कि यदि वह आबकारी नीति से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में आरोपी नहीं हैं, तो उन्हें समन क्यों जारी किया गया।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

Translate »