Wednesday, May 22, 2024
No menu items!
spot_img
HomeराजनीतिHaryana News: हरियाणा की पांच हजार महिलाएं बनेंगी ड्रोन पायलट, तीन लाख...

Haryana News: हरियाणा की पांच हजार महिलाएं बनेंगी ड्रोन पायलट, तीन लाख को बनाएंगे लखपति दीदी : मुख्यमंत्री

⇒ मुख्यमंत्री ने करनाल में आयोजित लखपति दीदी महासम्मेलन में की शिरकत

नितिन गुप्ता, मुख्य संपादक

हिंदुस्तान तहलका / करनाल – हरियाणा के करनाल में बुधवार आज नारी शक्ति वंदन अभियान के तहत लखपति दीदी महासम्मेलन का आयोजन नई अनाज मंडी में हुआ। जिसमें हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल (Chief Minister Manohar Lal) ने शिरकत की। जहां पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने कोलकाता से नारी शक्ति वंदन के तहत हजारों महिलाओं को संबोधित किया। पीएम
(PM) का संबोधन सुनने के लिए पानीपत और करनाल की महिलाएं ही पहुंची। इसके अलावा हरियाणा में यह कार्यक्रम 132 जगहों पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चलाया गया। इस दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने करनाल की धरती से हरियाणा की महिलाओं को संबोधित किया।

हरियाणा में 132 स्थानों पर हो रहा लखपति दीदी सम्मेलन

उन्होंने कहा कि प्रदेश में 132 स्थान पर लखपति दीदी सम्मेलन हो रहा है। इस कार्यक्रम को हरियाणा में जगह-जगह देखा जा रहा है। आज का दिन सौभाग्यशाली है, क्योंकि प्रधानमंत्री ने अपने मन में एक योजना और कल्पना रखी कि देश की गरीब महिलाओं को लखपति दीदी बनाया जाए। इसलिए कार्यक्रम का नाम लखपति दीदी रखा, जो एक अनूठी कल्पना है। उन्होंने कहा कि नमो ड्रोन दीदी योजना के तहत भी महिलाओं को ड्रोन पायलट की ट्रेनिंग दी जा रही है और उन्हें ड्रोन भी दिये जाएंगे। इसका उपयोग कृषि क्षेत्र में होगा, जिससे न केवल कृषि आधुनिक होगी तो वहीं बहनों को अतिरिक्त आय भी होगी।

500 सेल्फ-हेल्फ ग्रुप बनाए गए

500 सेल्फ हेल्प ग्रुप बनाए गए हैं, जिनमें 10-10 बहनें ट्रेनिंग लेंगी। 5000 बहनों को ड्रोन पायलट बनाया जाएगा। इन सभी को ड्रोन उपलब्ध कराए जाएंगे। हर क्षेत्र में ड्रोन की आवश्यकता रहेगी, चाहे वह सर्वे का काम हो या फिर खेतों में दवाई छिड़काव का। सेल्फ हेल्फ ग्रुप इन ड्रोन को किराए पर देकर अपनी इनकम बढ़ा सकते हैं। बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ अभियान से भी हमारी बेटियां बहुत आगे बढ़ी हैं। वहीं, उन्होंने कहा कि 302 बहनों को अन्य विभागों में काम दिलवा दिया गया है, उन्होंने कहा कि जो बहनें चूल्हा जलाकर काम करती थीं, उनको वैज्ञानिक तौर पर काम देकर ड्रोन चलने का काम दिया है। 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस है, जिसके उपलक्ष्य में यह कार्यक्रम किया गया है।

छह लाख बहनें स्वयं सहायता समूह में कर रही काम

उन्होंने कहा कि हरियाणा में 6 लाख बहनें स्वयं सहायता समूह में काम कर रही हैं। इनमें से 258000 परिवारों का सर्वे हो चुका है। हैरानी की बात है कि इनमें एक लाख बहनें ऐसी हैं जो पहले से 1 लाख से ज्यादा कमा रही हैं। इस वर्ष 1 लाख और बहनों को आगे बढ़ाने का काम करेंगे। चाहे वह उद्योग में आगे बढ़ें या फिर लोन लेकर। लोन में महिलाओं को 5 लाख की छूट दी जाएगी, बशर्ते वह लोन समय पर वापस करें।

अगर कोई बहन लोन लेकर आगे बढ़ना चाहती है तो इसके लिए सरकार ने 200 करोड़ रुपए का बजट में प्रावधान किया है। आज ऐसा कोई काम नहीं है, जिसे माताएं-बहनें नहीं कर सकती हैं। आज पुरुषों के मुकाबले हर क्षेत्र में महिलाएं आगे बढ़ रही हैं।
महासम्मेलन को लोकसभा सांसद व भाजपा प्रदेशाध्यक्ष नायब सैनी, सांसद संजय भाटिया, हरियाणा राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन की मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमरेंद्र कौर ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर महिला ने ड्रोन उड़ाकर भी दिखाया।

यह रहे उपस्थित

सम्मेलन में राज्यसभा सांसद कृष्ण पंवार, विधायक रामकुमार कश्यप, हरविंद्र कल्याण, धर्मपाल गोंदर सहित बड़ी संख्या में महिलाएं उपस्थित रही।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

Translate »