Thursday, May 23, 2024
No menu items!
spot_img
Homeदिल्ली NCRफरीदाबादयुवाओं में मानसिक स्वास्थ्य की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए लर्न...

युवाओं में मानसिक स्वास्थ्य की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए लर्न एक्स ने की 203 डीपीएस स्कूलों के साथ साझेदारी

तहलका जज्बा / संवाददाता

फरीदाबाद। लर्न एक्स पूरे विश्व में एजुकेटर्स को सशक्त बनाने के लिए समर्पित है, जिसने आज 203 दिल्ली पब्लिक स्कूल्स (डीपीएस) के साथ अपनी साझेदारी की घोषणा की है। इस साझेदारी के अंतर्गत लर्न एक्स डीपीएस स्कूलों में टीचिंग और नॉन-टीचिंग स्टाफ के लगभग 15,225 सदस्यों को मानसिक सेहत व स्वास्थ्य पर विस्तृत और संरचना बुद्ध प्रशिक्षण प्रदान करेगा, जिससे एक एकेडेमिक वर्ष में लगभग आधे मिलियन विद्यार्थियों को लाभ मिलेगा।
इस साझेदारी की घोषणा डीपीएस फरीदाबाद और डीपीएस बैंगलोर नॉर्थ में लर्नेक्स प्रोग्राम पूरा कर चुके एजुकेटर के एक सम्मान समारोह में की गई। इस अवसर पर डॉ. डेनियल फंग, सीईओ, इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हैल्थ; वीके शुंगलू, वाईस चेयरमैन, डीपीएस सोसायटी; अनिल कुमार, प्रिंसिपल, डीपीएस फरीदाबाद; संगीता चक्रवर्ती, सिम्मी कांत, ज्योति ढल, और संदीपन ऋषि, वाइस प्रिंसिपल, डीपीएस फरीदाबाद; चंद्रकांत सिंह, मैनेजिंग डायरेक्टर, लर्न एक्स; प्रिया ईरानी, को-फाउंडर, लर्न एक्स और दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में डीपीएस के प्रिंसिपल्स उपस्थित थे।

इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ के सीईओ डॉ. डेनियल फंग ने कहा कि लर्न एक्स और डीपीएस स्कूलों के बीच यह साझेदारी एजुकेटर्स को विद्यार्थियों की मानसिक स्वास्थ्य की जरूरतों को पूरा करने के लिए सही टूल्स उपलब्ध कराने की दिशा में एक महत्वपूर्ण पहल है, ताकि उन्हें मानसिक स्वास्थ्य की चुनौतियों का सामना करने के लिए आवश्यक सहयोग व मार्गदर्शन प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि विश्व में हर साल हर पांच में से एक व्यक्ति मानसिक स्वास्थ्य की समस्या का शिकार होता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार 10 से 19 साल के लगभग 14 प्रतिशत बच्चे मानसिक बीमारी का शिकार हैं, और विश्व में मानसिक बीमारी का 13 प्रतिशत भार इसी आयु समूह के बच्चों में है। भारत में यह समस्या और भी ज्यादा गंभीर है क्योंकि यहाँ पर मानसिक स्वास्थ्य प्रोफेशनल्स की भारी कमी है, और प्रति 1,00,000 लोगों में केवल 0.75 मनोरोग विशेषज्ञ ही उपलब्ध हैं।

लर्नएक्स के मैनेजिंग डायरेक्टर चंद्रकांत सिंह ने कहा कि हमें एनईपी 2020 अपनाने और भारत में मानसिक स्वास्थ्य के प्रयासों को आगे बढ़ाने के लिए डीपीएस स्कूलों के साथ साझेदारी करने की खुशी है। हम मिलकर टीचर्स को अपने विद्यार्थियों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाने के लिए जरूरी ज्ञान और संसाधन प्रदान कर सकते हैं। हम मिलकर युवाओं का भविष्य उज्जवल बनाने का यह सफर शुरू करने के लिए उत्साहित हैं।

डीपीएस फरीदाबाद के प्रिंसिपल अनिल कुमार ने कहा कि लर्नएक्स के साथ हमारा यह गठबंधन एक समग्र शिक्षा प्रदान करने की हमारी प्रतिबद्धता प्रदर्शित करता है ताकि हमारे विद्यार्थियों की विभिन्न जरूरतें पूरी हो सकें। एजुकेटर्स को मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने का कौशल प्रदान करके हम एक सहयोगपूर्ण वातावरण बना सकते हैं, जिसमें विद्यार्थियों को शैक्षणिक, सामाजिक और भावनात्मक सहित संपूर्ण विकास हो।

लर्नएक्स के पिछले अभियानों में मानसिक सेहत एवं स्वास्थ्य को बढ़ावा देने की उनकी प्रतिबद्धता स्पष्ट प्रदर्शित होती रही है। 2022 में लर्नएक्स ने अटल इनोवेशन मिशन (एम) नीति आयोग के सहयोग से भारत में समावेशी विकास के लिए एजुकेटर्स को अपनी तरह का पहला अंतर्राष्ट्रीय सर्टिफिकेट प्रोग्राम पेश किया। इस पायलट प्रोग्राम का उद्देश्य टीचर्स को समावेशी विकास के लिए परिवर्तनकारी शिक्षण का कौशल प्रदान करना था। पिछले दो सालों में इस कार्यक्रम द्वारा 10,000 स्कूलों के लगभग 15,000 टीचर्स को प्रशिक्षित कर 500,000 बच्चों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाया जा चुका है। डीपीएस स्कूलों के साथ साझेदारी लर्न एक्स का अगला चरण है, जिससे भारत में युवाओं के मानसिक स्वास्थ्य को संबोधित करने के इसके प्रयास मजबूत हो सकेंगे और टीचर्स, अभिभावकों एवं विद्यार्थियों को आवश्यक सहयोग मिल सकेगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

Translate »