Tuesday, April 23, 2024
No menu items!
spot_img
HomeराजनीतिHaryana News: मुख्यमंत्री ने ग्रामीण संवर्धन और महाग्राम योजना के तहत 113...

Haryana News: मुख्यमंत्री ने ग्रामीण संवर्धन और महाग्राम योजना के तहत 113 परियोजनाओं को दी मंजूरी

-यमुनानगर, पंचकूला, अंबाला, फरीदाबाद, झज्जर, भिवानी और दादरी में शुरू होंगी परियोजनाएं
– इन परियोजनाओं पर होंगे 121 करोड़ खर्च

नितिन गुप्ता, मुख्य संपादक

हिंदुस्तान तहलका / चंडीगढ़ – हरियाणा सरकार ने सात जिलों में ग्रामीण संवर्धन और महाग्राम योजना के तहत 113 नई परियोजनाओं को मंजूरी दी है। इन परियोजनाओं पर 121 करोड़ रुपये खर्च होंगे। ये परियोजनाएं यमुनानगर, पंचकूला, अंबाला, फरीदाबाद, झज्जर, भिवानी और दादरी में शुरू होंगी।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल (Chief Minister Manohar Lal) ने सोमवार आज यहां जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग द्वारा क्रियान्वित की जाने वाली उक्त 113 परियोजनाओं को प्रशासनिक मंजूरी प्रदान की है।इस संबंध में एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि दो परियोजनाएं महाग्राम योजना के तहत और 108 परियोजनाएं ग्रामीण संवर्धन कार्यक्रम के तहत स्वीकृत किया गया है। इसके अलावा तीन परियोजनाएं सीवरेज और स्वच्छता के तहत स्वीकृत हैं।

चरखी दादरी और भिवानी में किए जाएंगे दो परियोजनाओं पर 100.09 करोड़ खर्च

प्रवक्ता ने बताया कि महाग्राम योजना के तहत स्वीकृत दो परियोजनाओं में जल आपूर्ति योजना बौंद कलां का विस्तार, पंपिंग और डीआई पाइप लाइनें बिछाकर लोहारू नहर से गांव बौंद कलां, बास, बौंद खुर्द में चार मौजूदा जल कार्यों के लिए पानी उपलब्ध कराना शामिल है। इस पर 69.70 करोड़ खर्च किए जाएंगे। इसी तरह से गांव धनाना, जिला भिवानी में सीवरेज सुविधा और सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के निर्माण पर 33.39 करोड़ खर्च किए जाएंगे। प्रवक्ता ने बताया कि यमुनानगर, झज्जर और फरीदाबाद में सीवरेज और स्वच्छता की तीन परियोजनाओं को मंजूरी दी गई है।

फरीदाबाद के डिवीजन कार्यालय में होगा प्रयोगशाला का निर्माण

परियोजनाओं में फरीदाबाद के डिवीजन कार्यालय में 1.49 करोड़ की लागत से प्रयोगशाला का निर्माण करवाया जाएगा। इसी तरह से यमुनानगर में प्रयोगशाला उपकरणों की खरीद सहित नई जिला स्तरीय अपशिष्ट जल परीक्षण प्रयोगशाला पर 1.01 करोड़ खर्च किए जाएंगे। जिला झज्जर के बहादुरगढ़ में शहरी और ग्रामीण जल आपूर्ति के लिए पब्लिक हेल्थ इंजीनियरिंग विभाग में प्रयोगशाला भवन के निर्माण पर 60.41 लाख खर्च किए जाएंगे।

ग्रामीण संवर्धन कार्यक्रम के तहत 108 परियोजनाओं को दी मंजूरी

ने बताया कि ग्रामीण संवर्धन कार्यक्रम के तहत प्रमुख परियोजनाओं में पंचकूला के ब्लॉक बरवाला के गांव खेतपुराली में एक ट्यूबवेल लगवाने पर 17.42 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे। इसी तरह से पंचकूला के बरवाला ब्लाक के गांव नग्गल मोगीनंद में ट्यूबवेल लगवाने पर 17.43 लाख खर्च किए जाएंगे।

पुरानी एसी/पीवीसी पाइप लाइनें की जगह नई पाइप लाइनों बिछाई जाएगी

प्रवक्ता ने बताया कि अंबाला के गांव जैतपुरा में पुरानी क्षतिग्रस्त एसी/पीवीसी पाइप लाइनें की जगह डीआई जल आपूर्ति पाइप लाइनों के बिछाने पर 63.22 लाख खर्च किए जाएंगे। इसी तरह से अंबाला के नारायणगढ़ के गांव कलाल माजरा में पाइप लाइन बिछाने पर 24.98 लाख और अंबाला के नगावां गांव की कच्ची गलियों में नई जल आपूर्ति पाइप लाइनें पर 21.18 और अंबाला के गांव पुल्लेवाला में पुरानी जल आपूर्ति लाइनों को बदलने पर 24.44 लाख और यमुनानगर के गांव राजपुर की कच्ची गलियों में नई जल आपूर्ति लाइनें बिछाने पर 23.82 लाख खर्च किए जाएंगे।

इसी तरह, नारायणगढ़ के सुंदरपुर गांव में नई जल आपूर्ति पाइप लाइनें (बिना ढके) बिछाने व सीवरेज पर 23.36 लाख, गांव शहजादपुर के पानी की आपूर्ति व सीवरेज पर 23.63 लाख, अंबाला के गांव तंडवाल में मौजूदा पुरानी एसी/पीवीसी जलापूर्ति लाइनों को बदलने व डीआई बिछाने पर 23.94 लाख और यमुनानगर के गांव तेवर में जल आपूर्ति पाइप लाइन पर 24.97 लाख खर्च किए जाएंगे।

वहीं पंचकूला के (धानी) में जल आपूर्ति पाइप लाइनें और अंबाला के तोका गांव में (एफएचटीसी) जल आपूर्ति पर लाइनों पर 21.98 लाख, अंबाला मोहरा गांव में एसी/पीवीसी की पुरानी जल आपूर्ति पाइप लाइन को बदलने पर 91.16 लाख, पंचकूला के टोडा गांव में जल आपूर्ति की लाइनें बिछाने पर 22.36 लाख खर्च किए जाएंगे। प्रवक्ता ने बताया कि यमुनानगर के ब्लाक प्रताप नगर पूर्ण सीवरेज सुविधा और एसटीपी के निर्माण पर 23.87 लाख खर्च किए जाएंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

Translate »