Tuesday, July 16, 2024
No menu items!
spot_img
Homeहरियाणामुख्यमंत्री कैंप कार्यालय करनाल का आक्रोश प्रर्दशन स्थगित: गौड़

मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय करनाल का आक्रोश प्रर्दशन स्थगित: गौड़

हिन्दुस्तान तहलका / विकास संडवा

तोशाम – हरियाणा गवर्नमेंट पीडब्ल्यूडी मैकेनिकल वर्करज यूनियन सम्बंधित हरियाणा सयुक्त कर्मचारी संघ का 26 फरवरी को होने वाला करनाल मुख्यमंत्री आवास पर आक्रोश प्रदर्शन स्थगित कर दिया है। यह जानकारी देते हुए राज्य प्रैस प्रवक्ता व ब्रांच प्रधान कर्ण सिंह लाम्बा व ब्रांच सचिव संदीप गौड़ ने संयुक्त प्रेस विज्ञप्ति में जानकारी देते हुए कहा कि हरियाणा सरकार से 21 सूत्रीय मांग पत्र पर बजट सत्र के तुरंत पश्चात मुख्यमंत्री से  बातचीत के लिए संगठन को बुलाया जाएगा। यह आश्वासन मुख्यमंत्री के प्रतिनिधी कैम्प कार्यालय करनाल से श्री संजय बठला ने यूनियन पदाधिकारियों को बुला कर आश्वासन दिया। उन्होंने बताया कि आश्वासन मिलने और जनहित को देखते हुए यह फैसला लिया गया है क्योंकि किसान आंदोलन के चलते काफी जिलों में आवागमन पर प्रतिबंध लगा हुआ है व काफी रास्ते बन्द हो जाने की वजह से यह फैसला लिया गया है। गौड़ ने बताया कि हमारे 21 सूत्रीय मांग पत्र पर हरियाणा सरकार ने संज्ञान नही लिया तो संगठन आदोंलन करने के लिए फिर रणनीति तैयार करेगा। हमारी मांगे पुरानी पेंशन स्कीम बहाल की जाए, केंद्र के समान सभी वेतनमान में भत्ते लागू की जाए, केंद्र के समान सभी कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु लागू की जाए ,स्वेच्छा से पद परिवर्तित किया जाए,कर्मचारियों को मेडिकल कैशलेस की सुविधा पूरी तरह लागू की जाए, पीडब्ल्यूडी के तीनों विभागों में सेवा नियमो में संशोधन किया जाए, एल टी सी का भुगतान, पीडब्ल्यूडी के तीनों विभागों में कर्मचारियों की ड्यूटी के दौरान मृत्यु होने पर 30 लख रुपए का आर्थिक अनुदान व आश्रित को नौकरी दी जाए,टर्म अपॉइंटमेंट में कौशल विभाग के  तहत लगे कर्मचारियों को हर महीने की 7 तारीख को वेतनमान दिया जाए, भवन तथा मार्ग व् सिंचाई  विभाग में हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन द्वारा 2018 में भर्ती चतुर्थ कर्मियों को वरिष्ठता सूची में जोड़ा जाए,  पीडब्ल्यूडी के तीनों विभागों में  कर्मियों को साइकिल भता धुलाई भत्ता दोहरे पद का भता व स्पेशल भता बढाया जाए, चतुर्थ श्रेणी कर्मियों को तृतीय श्रेणी पदोन्नति पर इंक्रीमेंट दी जाए ,पीडब्ल्यूडी के तीनों विभागों में यात्रा भत्ता की दूरी पात्रता 20 किलोमीटर से घटाकर पूर्व की भांति 8 किलोमीटर की जाए, पीडब्ल्यूडी के तीनों विभाग में कार्यरत तृतीय श्रेणी कर्मचारियों को 1000 पर मासिक वाहन भत्ता दिया जाए, हरियाणा कौशल रोजगार निगम टर्म अपॉइंटमेंट पंचायत के अधीन पर लगे कर्मचारियों को रेगुलर कर्मचारियों के समान बराबर  वेतन दिया जाए, इत्यादि मांगों पर बातचीत की जाएगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

Translate »