Thursday, May 23, 2024
No menu items!
spot_img
Homeउत्तर प्रदेशउत्तर प्रदेश तीर्थ विकास परिषद के कार्यों / प्रस्तावों को लेकर हुई...

उत्तर प्रदेश तीर्थ विकास परिषद के कार्यों / प्रस्तावों को लेकर हुई बैठक

हिंदुस्तान तहलका / शिवांगी चौधरी

मथुरा। जिलाधिकारी शैलेन्द्र कुमार सिंह ने तीर्थ विकास परिषद के सभागार में उत्तर प्रदेश तीर्थ विकास परिषद द्वारा कराए जा रहे कार्यों /प्रस्तावों के संबंध में अधीनस्थ अधिकारियों के साथ बैठक ली। बैठक में (उप जिलाधिकारी, महावन, अपर मुख्य अधिकारी, जिला पंचायत, बलदेव मंदिर रिवीवर तथा उप मुख्य कार्यपालक अधिकारी को निर्देश दिए कि तहसील महावन के अन्तर्गत नगर पंचायत बल्देव के क्षेत्रान्तर्गत निष्प्रयोज्य चिकित्सालय की भूमि पर टीएफसी बनाये जाने के लिए  बैठक में सहमति हुई। जिसमे की वर्णित भूमि के सम्बन्ध में स्थानीय सेवायत / रिसीवर माननीय न्यायालय में चल रहे वाद को वापस लेने हेतु कार्यवाही करें और अपर मुख्य जिला पंचायत अधिकारी, मथुरा प्रस्ताव को जिला पंचायत वार्ड से सशर्त पारित करा लें और भूमि हस्तान्तरण के प्रस्ताव को शासन से अनुमोदित कराने की कार्यवाही शीघ्र करायें।
तहसील छाता के ग्राम बढैन कलां में स्थित कोकिलावन शनिधाम मे टीएफसी बनाये जाने हेतु 1.70 है ग्राम समाज भूमि का पुर्नग्रहण किया जाए। उत्तर प्रदेश  ब्रज तीर्थ विकास द्वारा पूर्ण कराई जा चुकी परियोजनाओं के रख-रखाव हेतु एक व्यवस्था बनाये जाने संबंधित उप जिलाधिकारियों से सुझाव प्राप्त किये जायें। जिलाधिकारी, मथुरा द्वारा विमर्श किया गया कि संबंधित उप जिलाधिकारी अपनी अध्यक्षता में एक समिति गठित कर लें। जिसमे संबंधित ग्राम पंचायत ,नगर पंचायत , कार्यदायी संस्था/स्टेक होल्डर्स के एक-एक सदस्य की सहभागिता रहे। इस संबंध में यह भी निर्देश दिए कि एक समिति उप जिलाधिकारी स्तर पर और एक समिति परियोजना विशेष स्तर पर गठित हो और समिति के सदस्य अपने सामान्य दौरे में उक्त स्थलों का निरीक्षण कर आख्या अपने सम्बन्धित उप जिलाधिकारियों को दें। मथुरा जनपद में पौराणिवनों / ग्राम कमई / करहला, खायरा, वरहरा बांगर, मॉट मूला बांगर, तारसी, ऊँचागाँव, सिहोरा, मुबारकपुर बांगर, बरसाना (पाडर वन), गोकुल बांगर वन के पुनः प्राकट्य हेतु ग्राम समाज भूमि ईकोरेस्टोरेशन वृक्षारोपण हेतु 10 वर्ष के लिए वन विभाग को दी जाए। सौभरि नगर वन विस्तार की ग्राम जहांगीरपुर खादर में 15.00 है। भूमि पर सहायक भूलेख अधिकारी मथुरा द्वारा विवाद के निस्तारण के संबंध में उप जिलाधिकारी मॉट तथा सहायक भूलेख अधिकारी को दें। वाटर म्यूजियम हेतु ग्राम अजीजपुर में सिंचाई विभाग की 5.475 भूमि को उपलब्ध कराएं।
मथुरा-वृन्दावन नगर निगम की अब्दुल नवींपुर बांगर की स्थित भूमि को पौधालय विकास हेतु उपलब्ध कराएं। जिला उद्यान अधिकारी, मथुरा से स्थानीय c के पौधों को उगाने की परियोजना बनाई जाए सहित अन्य परियोजनाएं तथा प्रस्तावों पर समीक्षा हुई।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

Translate »