Wednesday, May 22, 2024
No menu items!
spot_img
Homeअन्य राज्यHaryana News: ज्ञान ज्योति में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को समर्पित एक सौ...

Haryana News: ज्ञान ज्योति में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को समर्पित एक सौ महिला शिक्षकों का सम्मान

⇒ महिलाओं के सम्मान के लिए हर दिन महिला दिवस होना चाहिए- पूजा एस ग्रेवाल

हिंदुस्तान तहलका / विनोद गुप्ता

मोहाली – अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या के मौके पर  समाज में महिलाओं की ताकत और उनके योगदान को याद करते हुए ज्ञान ज्योति इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी (Gyan Jyoti Institute of Management and Technology), फेज दो द्वारा  कैंपस में सम्मान समारोह का आयोजन किया गया।

इस दौरान ट्राई सिटी (tri city) के विभिन्न शिक्षण संस्थानों में शिक्षा के क्षेत्र में अहम योगदान देने वाली एक सौ महिला शिक्षकों को सम्मानित किया गया। सोडाशी – द सेलिब्रेशन ऑफ वूमनहुड (Sodashi – The Celebration of Womanhood) के बैनर तले आयोजित इस सम्मान समारोह का मुख्य उद्देश्य शिक्षा के क्षेत्र में महिलाओं के महत्वपूर्ण योगदान को उजागर करना था। इस सम्माननीय समारोह की मुख्य अतिथि रूपनगर की अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर पूजा एस ग्रेवाल थीं। जिन्होंने इन महिलाओं को सम्मानित किया।

वहीं कैंपस डायरेक्टर डाॅ. अनित बेदी ने समारोह की अध्यक्ष थी ।

इस मौके पर डॉ.अनीता बेदी ने अपने विचार साझा करते हुए कहा कि आज महिलाएं हर क्षेत्र में पुरुषों के साथ मिलकर काम कर रही हैं। जबकि कुछ क्षेत्रों में  तो महिलाओं का योगदान अहम रहा है।  जिसमें से शिक्षा के क्षेत्र में महिलाओं का योगदान बहुत बड़ा माना जाता है। इसी बात को उजागर करने के उद्देश्य से शिक्षा के क्षेत्र में अहम योगदान देने वाली ट्राई सिटी की एक सौ महिला शिक्षकों को सम्मानित किया गया।

डिप्टी कमिश्नर पूजा एस ग्रेवाल ने अपने संबोधन में कहा कि यह गर्व की बात है कि ज्ञान ज्योति ग्रुप ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर शिक्षा के क्षेत्र में योगदान देने वाली महिलाओं को सम्मानित किया है। अगर हर दिन को महिला दिवस के रूप में मनाया जाता है, तो रोजाना बढ़ती घटनाएं महिलाओं के साथ होने वाले बलात्कार और शोषण को रोका जा सकता है। उन्होंने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि वे न सिर्फ देश का भविष्य हैं बल्कि बड़ा बदलाव लाने में भी सक्षम हैं और नई पीढ़ी को दुनिया को नई सोच देने के लिए आगे आना होगा। जिसमें महिलाओं की समानता एक अहम और गंभीर मुद्दा है।

इस अवसर पर संस्थान के अन्य स्टाफ सदस्यों द्वारा भाषण दिये गये। विद्यार्थियों द्वारा इक्कीसवीं सदी के समाज में महिलाओं के योगदान पर प्रस्तुत प्रस्तुति को सभी ने खूब सराहा। इस बीच, कैंपस  में महिला सशक्तिकरण पर सेमिनार, पोस्टर मेकिंग और रंगोली मेकिंग प्रतियोगिताएं भी आयोजित की गईं। इसके साथ ही विद्यार्थियों ने पावर प्रेजेंटेशन के माध्यम से समाज में महिलाओं के योगदान और उनके अधिकारों के बारे में बहुमूल्य जानकारी भी अपने साथियों के साथ साझा की। अंत में इस दिन की खुशी में केक भी काटा गया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

Translate »