Thursday, April 25, 2024
No menu items!
spot_img
Homeउत्तर प्रदेशचुनाव से ठीक पहले फिर व्यथित करने लगी यमुना की दुर्दशा

चुनाव से ठीक पहले फिर व्यथित करने लगी यमुना की दुर्दशा

-तीर्थ पुरोहित महासंघ ने कहा खडा करेंगे बड़ा आंदोलन

हिन्दुस्तान तहलका / रिंकू शर्मा

मथुरा – तीर्थ पुरोहित महासंघ के पदाधिकारी द्वारा यमुना जी का जयसिंहपुरा से गोकुल तक के घाटों का भ्रमण किया। जिसमे पाया गया अनगिनत नालों की वजह से यमुना जी प्रभावित हो रही हैं। जिसमें मसानी नाला जो कि प्रशासन द्वारा बताया जा रहा है कि सभी बंद कर दिए गए हैं लेकिन वास्तविक स्थिति देखने पर पता चला कि करीब 10 से 12 नालों को मिलाकर कैसे एक बड़ा नाला सीधा यमुना नदी में प्रभावित किया जा रहा है। नमामि गंगे योजना एक विफल योजना साबित हुई है। सरकार के द्वारा लाखों करोड़ों रुपये यमुना जी के शुद्धिकरण के लिए स्वीकृत किए गए हैं किंतु सरकार के प्रतिनिधि और प्रशासन द्वारा आपस में बंदर वाट किया जा रहा है। कागजों में सीवेज प्लांट चल रहे है किंतु वास्तविकता इससे कोसों दूर है। यमुना जी कब शुद्ध होंगी यह यमुना भक्तों के लिए एक सपने जैसा नजर आ रहा है, क्योंकि सरकार कितना भी प्रयास कर ले लेकिन जो प्रतिनिधि और सरकारी अधिकारी हैं, वह इस कार्य योजना अमली जामा नही पहनना चाहते। वह नहीं चाहते कि यमुना कभी शुद्ध हो क्योंकि यह कार्य योजना बनी रही तो उनके लिए व्यवसाय चालू रहेगा।

अन्यथा व्यवसाय बंद होने की संभावना है। तीर्थ पुरोहित महासंघ के ब्रिज प्रांत अध्यक्ष लालजी भाई शास्त्री ने आक्रोश व्यक्त करते हुए आंदोलन की चेतावनी दी और कहा कि जल्दी ही ब्रजमंडल की बैठक बुलाकर आंदोलन की रूपरेखा तैयार की जाएगी। पंडित अमित भारद्वाज ने कहा यह सब प्रशासन की लीपापोती है प्रशासन की मिली भगत से सब कार्य किया जा रहे हैं। दिल्ली से आए मनिकेश चतुर्वेदी ने कहाकि यमुना भक्त यमुना जी की लड़ाई के लिए अपना बलिदान देने को तैयार हैं। कुछ भी होगा हम हर आंदोलन में हर संभव प्रयास करेंगे। ब्रज मंडल महामंत्री यज्ञदत्त चतुर्वेदी ने कहा कि प्रतिनिधियों द्वारा कहा जा रहा है कि सभी नाले बंद है लेकिन वर्तमान स्थिति देखने को मिल रही है कि सीधे नाले यमुना में प्रभावित हो रही हैं। अखिलभर्तीय तीर्थ पुरोहित महासंघ बैठक कर एक बड़े आंदोलन की रूपरेखा तैयार करेगा। नमामि गंगे के ब्रज क्षेत्र के सहसंयोजक पंकज चतुर्वेदी ने कहा कि करोड़ों रुपये की योजना जिसका का प्रारूप तैयार नहीं हो पाया और वह फंड सरकार को वापस हो गया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

Translate »